Site Search

Search by Keyword

Browse Keyword Tags By Alphabet

A   B   C   D   E   F   G   H   I   J   K   L   M   N   O   P   Q   R   S   T   U   V   W   X   Y   Z  

You are searching for "प्रवृत्तियाँ और घटनाएँ"   Total Result found: 70

यदि आप असफलता का सामना करते हैं, तो अपनी योजना को एक ऐसा मोड़ दें जो एक सुखद आश्चर्य लाने में सक्षम हो - कर्नाती वरुणरेड्डी (AIR 7; CSE 2018) (If you Face Failure, let your Plan take a Detour to bring a Pleasant Surprise; says Karnati Varunreddy (AIR 7; CSE 2018))

On Thursday 8th August 2019  

कर्नाती वरुणरेड्डी के लिए, यह स्वप्निल कैरियर को पाने की दिशा में एक क्रमिक कार्यवाही रही जिसमें वांच्छित गंतव्य - भारतीय प्रशासनिक सेवा तक पहुंचने के लिए यह पाँचवाँ प्रयास था.

प्रारंभिक दो प्रयासों में वैकल्पिक विषय के रूप में भूगोल चुनना और असफलता के बाद तीसरे प्रयास में वरुण को अपनी योजनाओं के मूल्यांकन की एक बार फिर से जरूरत पड़ी. और तब, उन्होंने अपने स्वयं के विषय गणित में विश्वास दिखाया, जिससे उन्हें सफलता प्राप्त करने में (AIR 166; CSE 2016) मदद मिली, जिसके साथ उन्हें IRS (IT) पद मिला.

हालाँकि वे चौथे प्रयास में भी सफल रहे (AIR 225; CSE 2017); लेकिन, इस पाँचवें प्रयास ने आखिरकार उन्हें CSE 2018 में सातवीं रैंक दी.


Last Update Thursday 8th August 2019

UPSC में शामिल होने की योजना Plan ‘A’ था और मैं Plan ‘B’ के साथ भी तैयार था; सौभाग्य से मेरी मेरी पहली योजना ही काम कर गई - शुभम गुप्ता (AIR 6; CSE 2018) (Appearing in UPSC was Plan ‘A’ and I was ready with Plan ‘B’ as well; Luckily my Plan ‘A’ Worked; says Shubham Gupta (AIR 6; CSE 2018))

On Thursday 8th August 2019  

दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड कॉमर्स (दिल्ली विश्वविद्यालय) से एक अर्थशास्त्र स्नातक शुभम गुप्ता ने वर्ष 2015 में सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू की और अपने दूसरे प्रयास में उन्हें CSE 2016 क्रैक करने में सफलता मिली और रैंक 366वाँ रैंक प्राप्त हुआ जसके द्वारा उन्हें भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा (Indian Audit and Accounts Service) में चयन मिला.

यह शुभम का चौथा प्रयास था जिसमें वह अपना लक्ष्य पूर कर सके और मैरिट-लिस्ट में छठे स्थान पर चयन के साथ IAS का पद सुनिश्चित किया.


Last Update Thursday 8th August 2019

टॉपर की प्रेरणा और उनके सुझावों से प्रिन्स धवन को मिली मदद, किया प्राप्त सिविल सेवा परीक्षा 2011 में तीसरा रैंक (Success inspires success – A word of Advice from Toppers helped Prince Dhawan to achieve 3rd Rank in CSE 2011)

On Saturday 20th July 2019  

जब यह आपके वैकल्पिक विषय की पसंद और चुनाव के बारे में होता है, तो कुछ मूल्यवान सलाह लेने के इरादे से आपके द्वारा चयनित वैकल्पिक विषय हेतु सहायता के लिए सफल उम्मीदवारों तक पहुंचने में कोई बुराई नहीं है.

ऐसा ही कुछ हुआ प्रिंस धवन (AIR 3; CSE 2011) के साथ जब अपनी तैयारी की योजना बनाते समय वैकल्पिक विषय के चुनाव के बारे में और तैयारी की रणनीति हेतु सही निर्णय लेने में वरिष्ठ, सफल उम्मीदवारों तक पहुँचे जिन्होंने प्रिंस को उचित मार्गदर्शन दिया.


Last Update Tuesday 6th August 2019

प्रथम प्रयास में मिली बड़ी सफलता, वंदना (रैंक 8, सिविल सेवा परीक्षा 2012) के साथ हिन्दी माध्यम एक बार फिर सुर्खियों में (With Big Success in First Attempt, Vandana (AIR 8, CSE 2012) achieves her Goal with Hindi medium)

On Saturday 20th July 2019  

सिविल सेवा परीक्षा 2011 में हिन्दी माध्यम के उम्मीदवारों के परिणाम आशानुरूप न रहने के बाद वन्दना की उच्च सफलता के साथ हिन्दी माध्यम एक बार फिर सुर्खियों में आया.

इस सफलती से जुड़ा एक महत्वपूर्ण पहलु है वन्दना द्वारा चयनित वैकल्पिक विषयों में से एक - विधि जिसे लोग अंग्रेजी माध्यम के साथ ही सुरक्षित मानते हैं.


Last Update Saturday 20th July 2019

योजनाबद्ध कड़ी मेहनत और तैयारी में निरन्तरता के साथ हरियाणा की अंकिता चौधरी ने सिविल सेवा परीक्षा 2018 में प्राप्त की 14वीं रैंक (Planning, Hard Work and Consistency helped Ankita Choudhary secure 14th Rank in Civil Services Exam 2018)

On Friday 19th July 2019  

मेहम, रोहतक (हरियाणा) की अंकिता चौधरी ने सिविल सेवा परीक्षा 2018 में 14 वीं रैंक प्राप्त कर एक शानदार सफलता दर्ज की है.

यह अंकिता का दूसरा प्रयास था और वैकल्पिक विषय के रूप में उन्होंने लोक प्रशासन का चयन किया था.

अंकिता का परीक्षा लेखन माध्यम अंग्रेजी था.

 


Last Update Friday 19th July 2019

3 व्यापक श्रेणियां जो अंततः IAS परीक्षा में उम्मीदवारों की सफलता की संभावनाओं को परिभाषित करती हैं (3 broad categories of IAS aspirants that ultimately define their chances of success)

On Sunday 14th July 2019  

सिविल सेवा परीक्षा में सफलता कई युवाओं के लिए एक सपना है; लेकिन, अधिकांश उम्मीदवार "सफल होने के अवसर" को देखते हैं और कम सफलता प्रतिशत सबसे महत्वपूर्ण कारक बन जाता है जिस वजह से कई प्रतिभाशाली उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा में अपने सपनों को त्याग ही देते हैं और कोई नया कैरियर खोज अपने लिए अलग राह चुन लेते हैं.

यह पूर्णतः आपके बारे में है और अपने प्रयासों को आप किस प्रकार देखते हैं.

मैं समझता हूँ कि सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने को इच्छुक उम्मीदवारों को तीन व्यापक श्रेणियां में विभाजित किया जा सकता है.


Last Update Sunday 14th July 2019

हमें अपना लक्ष्य सदैव याद रखना चाहिए और किसी विफलता के लिए मानसिक रूप से तैयार रहना चाहिए - रेहाना बशीर (एआईआर 187; सीएसई 2018) (We need to remember is our Goals all the times and should be mentally prepared for failures - Rehana Bashir (AIR 187; CSE 2018))

On Monday 22nd April 2019  

जम्मू (जम्मू और कश्मीर) की डॉ. रेहाना बशीर ने SKIMS, श्रीनगर से MBBS करने के बाद सिविल सेवा परीक्षा 2018 में शानदार सफलता हासिल की और जम्मू और कश्मीर के युवाओं, खासकर लड़कियों में बड़ी सफलता के प्रति विश्वास जगाया है.

रेहाना का यह दूसरा प्रयास था. पहले प्रयास (CSE 2017) में वह प्रारंभिक परीक्षा को पास नहीं कर सकी थी.

रेहाना ने अपने विषय - मेडिकल साइंस को वैकल्पिक विषय के रूप में रखा.


Last Update Monday 15th July 2019

अपनी स्मार्ट अध्ययन-योजना से दृढ़ता से तब तक जुड़े रहें, जब तक वांच्छित सफलता प्राप्त न हो जाये - अतिराग चपलोत (AIR 15; CSE 2018) (“An aspirant must have the perseverance to stick to smart study-plan until it is not conquered” says Atirag Chaplot (AIR 15; CSE 2018))

On Sunday 21st April 2019  

उदयपुर (राजस्थान) के सांवर गाँव के अतिराग चपलोत ने अपनी स्कूली शिक्षा फतहनगर और उदयपुर से की और स्नातक की पढ़ाई मुंबई विश्वविद्यालय से की.

एक अर्हता प्राप्त चार्टर्ड एकाउंटेंट, अतिराग कम उम्र में ही सिविल सेवा की ओर मोहित हो गए और उन्हें विश्वास था कि वह ऐसा कर सकते हैं. उन्होंने अपना लक्ष्य को पूरा करने के लिए तीन प्रयास लिए.

उन्होंने लगातार असफलता के कारण उत्पन्न व्यथा के बावजूद अपने लिए राह साफ करने की ताकत दिखाई और अपनी पिछले प्रयास में की गलतियों से सीखते हुए ऊपर उठने का  कार्य किया.

सी.ए. बैकग्राउंड से होने के कारण, अतिराग ने वैकल्पिक विषय के रूप में कॉमर्स और अकाउंटेंसी को विकल्प के रूप में चुना.


Last Update Thursday 18th July 2019

सिविल सेवा परीक्षा 2018 में एक बार फिर हिन्दी माध्यम का परिणाम आशानुरूप नहीं – अभी भी वास्तविकता से दूर (Result of Hindi Medium Candidates in Civil Services Exam 2018 not as per expectation-Still far from realities)

On Sunday 14th April 2019  

आज सिविल सेवा परीक्षा 2018 का परिणाम आये आठ-नौ दिन हो गए और इसमें हिन्दी माध्यम के उम्मीदवारों की सफलता पर मेरे कुछ अपडेट या प्रतिक्रिया न कर पाना और आपको सम्बोधित करने में थोड़ी देर हुई है. इसका कारण रहा कि मैं शीर्ष स्थानों पर चयनित उम्मीदवारों से सम्पर्क में व्यस्त रहा.

पर हिन्दी माध्यम के उम्मीदवारों से एक अलग लगाव है; अपने विचार इस संबंध में लिखना तो मैं रोज़ चाह रहा था पर हौसला बढ़ाने वाली बातों की शुरूआत कहाँ से करूँ; यही सोच बना रहा था; परन्तु, इन दिनों सोशल मीडिया पर हिन्दी माध्यम संबंधी नकारात्मक बातों के बीच अपना पक्ष रखना चाहिये कि नहीं, इसी कश्मकश में यह आठ-नौ दिन गुज़ार दिये.

पिछले वर्ष मैंने इस ओर कुछ कार्य शुरू किया था उसी कड़ी में यह लेख सिविल सेवा परीक्षा में हिन्दी माध्यम के साथ शामिल उम्मीदवारों में जोश जगाने का एक छोटा सा प्रयास है.


Last Update Friday 19th April 2019

क्या लोक प्रशासन वैकल्पिक विषय के रूप में फिर से वापसी कर रहा है? (Is Public Administration as an optional Subject making a comeback?)

On Tuesday 2nd April 2019  

सही वैकल्पिक विषय का चुनाव एक बड़ी चुनौती है और इसे सीधे शब्दों में कहें तो उपयुक्त वैकल्पिक विषय चुनने के लिए सही चयन-प्रक्रिया के साथ एक तर्कसंगत निर्णयन आवश्यक है.

आज के बदलते परिदृश्य में कई उम्मीदवार वैकल्पिक विषय के रूप में अपने विषय (जो पहले अध्ययन किए गए विषयों में से एक) को चुनने के लिए प्राथमिकता दिखा रहे हैं; वहीं, अभी भी अधिकांश उम्मीदवार एक रणनीतिक कदम के रूप में अपने विषय को छोड़ कोई लोकप्रिय विषय चुन अपने अभियान को आगे बढ़ाते है.

सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा के लिए उपलब्ध सबसे लोकप्रिय वैकल्पिक विषयों में से एक लोक प्रशासन एक बार फिर से उम्मीदवारों के बीच रुचि उत्पन्न करने में सक्षम है और जैसा कि रुझान पुनरुद्धार के संकेत दे रहे हैं; अगर आगामी परिणाम पक्ष में आते हैं तो लोक प्रशासन खोए हुए गौरव को पुनः प्राप्त करने के लिए तैयार लगता है.


Last Update Tuesday 2nd April 2019

कड़ी मेहनत, योजना और दृढ़ता भरा प्रयास आपको जीवन में यश दिला सकता हैं - गरिमा अग्रवाल (AIR 241; CSE 2017) (Hard Work, Planning and Perseverance combined can give you Success in any walks of life; says. Garima Agrawal (AIR 241; CSE 2017))

On Sunday 3rd February 2019  

IIIT हैदराबाद से ECE में बी.टेक पूरा करने के बाद, खरगोन (मध्य प्रदेश) की गरिमा अग्रवाल ने अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, हैदराबाद से एम.एस. (MULTI AGENTSYSTEMS) किया.

इसी बीच उन्होंने जर्मनी के बॉन विश्वविद्यालय के साथ रिसर्च इंटर्न के रूप में कार्य भी किया.

वर्ष 2016 में M.S. पूरा करने के तुरंत बाद सिविल सेवाओं में कैरियर बनाने की सोच के साथ गरिमा ने सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने का फैसला लिया. पर भाग्य में सफलता दुसरे प्रयास में लिखी थी और इस बार सिविल सेवा परीक्षा 2017 में शानदार सफलता मिली और 241वाँ रैंक प्राप्त हुआ.

गरिमा ने वैकल्पिक विषय के रूप में दर्शनशास्त्र को चुना.


Last Update Thursday 18th July 2019

बस अपने दिल की सुनी और कॉर्पोरेट जगत में अपना कैरियर छोड़, सिविल सेवाओं में अपने लक्ष्य को प्राप्त कर ही लिया - सूरज पटेल (AIR 475; CSE 2017) (“Success in Civil Services Examination is a product of your Dreams and Perceptions”; says Suraj Patel (AIR 475; CSE 2017))

On Sunday 3rd February 2019  

मोती लाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इलाहाबाद से वर्ष 2013 में सूरज पटेल ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक. किया.  इसके बाद कैरियर की शुरूआत पेप्सिको इंडिया के साथ हुई.

लगभग दो वर्ष की सेवा के बाद, उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा के लिए गंभीरता से तैयारी करने के लिए नौकरी छोड़ दी.

अपने तीनों प्रयासों में सूरज ने सिविल सेवा परीक्षा को पास किया और धीरे-धीरे रैंकिंग में सुधार के साथ-साथ सेवाओं में भी अपने लक्ष्य तक पहुँचने का अवसर मिला. प्रथम प्रयास में भारतीय राजस्व सेवा (आई.आर.एस.), दूसरे प्रयास में भारतीय पुलिस सेवा (आई.पी.एस.) और सिविल सेवा परीक्षा 2017 के साथ अपने तीसरे प्रयास में उन्हें फिर एक बार शानदार सफलता मिली है.

उन्होंने नृविज्ञान (Anthropology) को वैकल्पिक विषय के रूप में चुना.


Last Update Thursday 18th July 2019

About Us

IASPASSION is all about success in Civil Services Examination. With an eye on coveted Indian Administrative Service aspiring youngsters chase their dreams and give their best to achieve success.
We are passionately working on making their journey uncomplicated and enjoyable and our mission is to dispel the myths and wrong notions that surround this big examination.
It is our continuous endeavor to bring in relevant information and inspiring stories that instill confidence and help you persevere as it is a fierce competition that sometimes requires just sticking to the GOAL.

 

The content on this site is IPR property of IASPassion.com and any reproduction of the same, in part or as a whole, will call for legal action under copyright act.

© IASPassion 20018 ---- 2019