Site Search

Search by Keyword

Browse Keyword Tags By Alphabet

A   B   C   D   E   F   G   H   I   J   K   L   M   N   O   P   Q   R   S   T   U   V   W   X   Y   Z  

You are searching for "कोचिंग संस्थान"   Total Result found: 9

सिविल सेवा परीक्षा में सफलता के लिए आपको चाहिये तैयारी की एक समुचित रणनीति और बिना विचलित हुए सफलता की आशा के साथ समग्र प्रयास - रतन दीप गुप्ता (सिविल सेवा परीक्षा 2017 में हिन्दी माध्यम से सफल) (For success in Civil Services Examination you need a well-defined plan, focused hard work with hope for success – Ratan Deep Gupta (Success in Civil Services Examination with Hindi Medium))

On Monday 8th October 2018  

अपने पाँचवे प्रयास में एक लम्बी प्रतिक्षा के बाद अपना लक्ष्य पाने वाले रतन दीप गुप्ता ने सिविल सेवा परीक्षा 2017 में सफलता प्राप्त की है.

वर्ष 2009 में स्नातकोत्तर के बाद कैरियर की खोज में पहला चयन वर्ष 2010 में भारतीय स्टेट बैंक में असिस्टेंट और साथ ही कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से एकाउन्टेंट के पद पर हुआ और यहीं कार्यरत्त रहे.

अपने सभी प्रयासों में रतन दीप ने वैकल्पिक विषय के रूप में हिन्दी भाषा के साहित्य को चुना.


Last Update Thursday 18th July 2019

क्या किसी कोचिंग संस्थानों की अध्ययन-सामग्री ले सामान्य अध्ययन की तैयारी की जा सकती है? (Should one go for General Studies study-material from Coaching Institutes?)

On Friday 5th October 2018  

कई उम्मीदवार व्यक्तिगत निर्णयों और किन्ही कारणों से कोचिंग संस्थान की नियमित कक्षाओं में शामिल नहीं हो पाते हैं, परन्तु प्रतिष्ठित नियमित क्लासरूम कोचिंग संस्थानों के नोट्स, पत्राचार पाठ्यक्रम खरीदने के बारे में मन बनाते हैं.

वह इन पर विश्वास इस सोच के साथ दर्शाते हैं कि अध्ययन-सामग्री की गुणवत्ता व विश्वसनीयता भरोसेमंद है और यह प्रभावी तैयारी में सहायक रहेगा.

लेकिन, तथ्य जो ध्यान में रखना ज़रूरी है कि आप परीक्षा से कम से कम एक वर्ष पहले यह अध्ययन सामग्री खरीदते हैं ताकि आप एक प्रभावी तैयारी कर सकें; परन्तु, जब आपका परीक्षा का सामना करने का समय आता हैं, तब तक इसकी अधिकांश जानकारियाँ पुरानी पड़ जाती हैं.


Last Update Sunday 18th November 2018

मैने कभी IAS बनने के बारे में सोचा तक नहीं था; बस कदम बढ़ाता गया, मंज़िले मिलती गईं - लखन सिंह यादव (सिविल सेवा परीक्षा 2017 में हिंदी माध्यम से सफल) (I never even thought about IAS; I just kept climbing stairs step-by-step to reach the destination – Lakhan Singh Yadav (Civil Services Examination 2017 Success with Hindi Medium))

On Wednesday 23rd May 2018  

लखन सिंह यादव (रेंक 565, सिविल सेवा परीक्षा 2017) ने अपने चौथे प्रयास में यह शानदार सफलता प्राप्त की है. उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में राजनीतिक विज्ञान एवम् अंतरराष्ट्रीय संबंध विषय का चयन किया.

इस लक्ष्य तक पहुँचने की राह कठिन है और परिणाम अनिश्चित. इस तथ्य को समझते हुए लखन ने अपने लिये कैरियर विकल्प हेतु सिविल सेवा परीक्षा के साथ-साथ विभिन्न स्तर पर कई परीक्षाओं में भाग लिया और एक के बाद एक कदम बढ़ाते हुए कई परीक्षाओं में सफलता भी प्राप्त करते गए और अंततः एक ऐसी सफलता प्राप्त की जिसके बारे में पहले वह सोचने से भी डरते थे.


Last Update Thursday 18th July 2019

सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हेतु उठायें कुछ बड़े कदम (Take some Big Steps for Success in Civil Services Examination)

On Sunday 13th May 2018  

सिविल सेवा परीक्षा में हिन्दी माध्यम के उम्मीदवारों के प्रदर्शन और इस विकट स्थिति से कैस बाहर आया जाये इस पर पिछले दो लेखों के बाद, इस लेख में उम्मीदवारों को वांच्छित सफलता हेतु क्या कदम उठाने चाहिये इस पर चर्चा कर रह हूँ.

परिस्थितियाँ इतनी विकट हैं कि कुछ लोगों ने सिविल सेवा परीक्षा में हिंदी माध्यम का अंत सा मान लिया है. मानता हूँ कि असफलता तोड़ देती है और नकारात्मकता चारों ओर से धेर लेती है जिससे आपकी सोच तक प्रभावित हो जाती है. परन्तु, मैं सदैव आशावादी रहा हूँ और पूरे विश्वास से कह रहा हूँ कि पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्तों, हिंदी माध्यम वापसी करेगा और जम के करेगा. सब्र का पैमाना छलकने न दें. सफलता की कामना के साथ प्रयास करें और लक्ष्य के प्रति पूर्ण समर्पित रहें.


Last Update Tuesday 12th June 2018

सिविल सेवा परीक्षा में हिंदी माध्यम का प्रदर्शन और इसका भविष्य (Performance of Hindi Medium in Civil Services Examination and its future)

On Tuesday 8th May 2018  

सिविल सेवा परीक्षा में हिंदी माध्यम के उम्मीदवारों के लिये एक बार फिर निराशाजनक परिणाम सामने आ रहे हैं. सिविल सेवा (प्रारम्भिक) परीक्षा 2017 के परिणाम देख जहाँ हिंदी माध्यम के उम्मीदवारों का औसत प्रदर्शन सामने आया था, यह अंदाजा लग ही गया था कि आगाज़ कैसा होगा.

मैं ही क्या, हिंदी माध्यम के कोचिंग संस्थानों के पास तो मेरे से बेहतर आंकड़े रहे होंगे जो हजारों की संख्या में हिंदी माध्यम के उम्मीदवारों को सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कराते हैं. इसलिये 27 अप्रैल 2018 को घोषित सिविल सेवा परीक्षा 2017 के अंतिम परिणाम हम सभी के लिये तो कोई आश्चर्य नही.

 


Last Update Thursday 13th December 2018

हिन्दी माध्यम के उम्मीदवारों को सफलता के लिये चाहिये केवल धैर्य, कठिन परीश्रम और सकारात्मक सोच, 337वाँ रैंक शैलेन्द्र सिंह इंदौलिया (“For success, Hindi Medium candidates need only Persistence, hard work and positive thinking”, says 337th Rank Shailendra Singh Indolia)

On Wednesday 13th July 2016  

बचपन से जिस स्वप्न को लिये बड़े हुए उसे केवल इस लिये छोड़ दिया जाये कि अब यह सिविल सेवा परीक्षा हिन्दी माध्यम के उम्मीदवारों के लिये कठिन हो चली है, यह तो कतई उचित निर्णय नहीं.

इन चुनौतियों का सामना कर सफलता प्राप्त करने का मजा ही अलग है और अपने इसी ज़ज्बे को दर्शाते हुए शैलेन्द्र सिंह इंदौलिया ने सिविल सेवा परीक्षा 2015 में शानदार सफलता पाई और 337वाँ रैंक प्राप्त कर भारतीय राजस्व सेवा में पद पाया है.


Last Update Thursday 18th July 2019

सिविल सेवा परीक्षा 2015 में हिंदी माध्यम के साथ आई.ए.एस. टॉपर, अनुराधा पाल (रैंक-62) (Anuradha Pal (62nd Rank) is IAS Topper with Hindi Medium in Civil Services Examination 2015)

On Wednesday 25th May 2016  

जब यहां सिविल सेवा परीक्षा में हिंदी माध्यम के प्रदर्शन के बारे में संदेह और अनिश्चितताओं का माहौल है, अनुराधा पाल (रैंक 62; सी.एस.ई. 2015) ने हिंदी माध्यम के साथ शानदार सफलता हासिल की है. ग्रामीण पृष्ठभूमि, संसाधनों की कमी के बावजूद और परीक्षा से जुड़ी जटिलताओं के बारे में कोई ज्ञान न होने पर भी कदम-दर-कदम अनुराधा अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर हुई और यह शानदार सफलता अर्जित की.


Last Update Thursday 18th July 2019

क्या वैकल्पिक विषय की तैयारी को नजरअंदाज करना उचित है? (Should you overlook optional subject preparation?)

On Wednesday 1st January 2014  हालांकि, मुख्य परीक्षा के प्रारूप में बड़े बदलाव आये हैं फिर भी वैकल्पिक विषय का महत्व अभी भी है. अब, फिर से इसका महत्व महसूस होना चाहिये और मैं मानता हूँ कि मुख्य परीक्षा 2013 के प्रश्न-पत्रों पर नज़र डालने के बाद वैकल्पिक विषय गंभीर उम्मीदवारों के रडार पर वापस आ जाएगा और कुछ नये रुझान देखने को मिल सकते हैं.
Last Update Wednesday 1st January 2014

सामान्य अध्ययन के लिए सबसे अच्छा कोचिंग संस्थान का चयन कैसे करें? (How to select the best coaching institute for General Studies?)

On Sunday 19th August 2012  सामान्य अध्ययन के लिए तैयारी हेतु आप किसी भी प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थान में जाने पर विचार कर सकते हैं बशर्ते आप जानते हैं कि वह संस्थान वास्तव में आपके प्रदर्शन के स्तर को बढ़ाने के लिए काम कर सकता हैं.
Last Update Wednesday 1st January 2014

About Us

IASPASSION is all about success in Civil Services Examination. With an eye on coveted Indian Administrative Service aspiring youngsters chase their dreams and give their best to achieve success.
We are passionately working on making their journey uncomplicated and enjoyable and our mission is to dispel the myths and wrong notions that surround this big examination.
It is our continuous endeavor to bring in relevant information and inspiring stories that instill confidence and help you persevere as it is a fierce competition that sometimes requires just sticking to the GOAL.

 

The content on this site is IPR property of IASPassion.com and any reproduction of the same, in part or as a whole, will call for legal action under copyright act.

© IASPassion 20018 ---- 2019