"एक समय में एक चीज़ पर ध्यान केंद्रित करने से अविश्वसनीय परिणाम उत्पन्न करने की क्षमता प्राप्त होती है", अनु कुमारी (रेंक 2; सी.एस.ई. 2017)

(“Focusing on one thing at a time has power to produce incredible result” says Anu Kumari (AIR 2; CSE 2017))

दिल्ली के हिंदू कॉलेज से भौतिकी (ऑनर्स) स्नातक, आई.एम.टी. नागपुर से एम.बी.ए., एक 4 वर्षीय बच्चे की मां, सोनीपत (हरियाणा) की अनु कुमारी सिविल सेवा परीक्षा 2017 में दूसरे स्थान पर हैं.

सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने का फैसला करने से पहले उन्होंने आई.सी.आई.सी.आई. प्रूडेंशियल, रेलिगेयर हेल्थ और अविवा लाइफ इंश्योरेंस जैसी कंपनियों के साथ काम किया था.

उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में समाजशास्त्र के साथ अपने दूसरे प्रयास में इस शानदार सफलता को हासिल किया है.


 By:      On Sunday 20th May 2018           Read In English

सोनीपत (हरियाणा) की 31 वर्षीय अनु कुमारी ने सिविल सेवा परीक्षा 2017 में दूसरा और महिलाओं में सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया है.

एक निम्न-मध्यम आय परिवार से आयी अनु ने अपनी स्कूली शिक्षा सोनीपत से पूरी की. स्नातक स्तर की पढ़ाई के लिए वह दिल्ली आई और हिंदू कॉलेज में भौतिकी (ऑनर्स) कोर्स में प्रवेश लिया और बाद में, आई.एम.टी., नागपुर से एम.बी.ए. (वित्त और विपणन) किया. पूरी शैक्षिक जीवन में उन्होंने अपनी पढ़ाई में उत्कृष्टता हासिल की जिससे उनका एक उज्जवल भविष्य सुनिश्चित हुआ.

एम.बी.ए. के तुरंत बाद, अनु को एक बड़ा ब्रेक मिला और आई.सी.आई.सी.आई. प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड में चयन हो गया और और कैरियर की शुरूआत में ही मुंबई चली गई. जैसा कि कॉर्पोरेट दुनिया में होता है, उसने एक के बाद दूसरी कंपनियाँ बदलीं और उनकी कैरियर प्रगति काफी तेज रही.

हालांकि, अनु के भाई और मामा जी ने हमेशा उनकी प्रतिभा को पहचानते हुए उन्हें अपने मौजूदा कैरियर से आगे देखने के लिए प्रोत्साहित किया.

अपनी भावनाओं को साझा करते हुए, अनु ने कहा, "आई.ए.एस. में कैरियर हमेशा मन में तो था और सदैव मैं समाज की ओर योगदान करना चाहता थी विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों के लिए; लेकिन, मेरा तत्काल लक्ष्य जीवन में पहले कैरियर सुरक्षित करना था."अनु कुमारी (रेंक 2; सी.एस.ई. 2017)

"सब अच्छा जा रहा था; लेकिन, इंश्योरेंस जैसे उद्योग में लक्ष्य और चुनौतियों का सामना करते, एक ढर्रे पर काम करते मैंने एकान्त सा महसूस करना शुरू कर दिया. जबकि मैं कुछ सार्थक करना चाहती थी. ठीक 8 वर्ष तक काम करने के बाद, सिर्फ अपने सपनों का पीछा करने के लिए मैंने अपने आखिरी कार्यक्षेत्र अविवा लाइफ इंश्योरेंस, गुड़गांव को छोड़ दिया जहाँ मेरा वार्षिक पैकेज लगभग 19 लाख रूपये रहा", अनु ने बताया.

मेरे परिवार के समर्थन और प्रोत्साहन के साथ, मैंने जो निर्णय लिया था उससे मुझे डर नहीं था. मैं तुरंत कार्य़वाई करने में लग गई और हाथ में जो भी प्रारम्भिक परीक्षा से पहले छोटा समय बचा था, तैयारी शुरू कर दी.

अपने निर्णय के बारे में जानकारी देते हुए अनु ने कहा, "परीक्षा में बैठने की पात्रता में अपनी आयु-कारक के कारण मेरे पास केवल दो प्रयास ही शेष थे, इसलिए मेरे पास अधिक विकल्प थे भी नहीं. मेरे सामने एक स्पष्ट लक्ष्य था और मैंने खुद को पूरी तरह से सभी प्रकार की विकृतियों से अलग कर दिया. दिन में कोई सपने नहीं देखे, मैं वास्तव में गंभीर अध्ययन प्रक्रिया में शामिल हो गई."

नौकरी छोड़ने के तुरंत बाद, उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा 2016 में अपना पहला प्रयास लिया और प्रारंभिक परीक्षा में केवल 5-6 सप्ताह की तैयारी के साथ शामिल हुई. प्रारंभिक परीक्षा के नकारात्मक नतीजे ने उनकी तैयारी योजना को बिलकुल भी प्रभावित नहीं किया क्योंकि वह केवल एक अंक से प्रीलिम कट-ऑफ चूक गई थी.

"मैंने इस विफलता को अपनी एक मूल्यवान फीडबैक के रूप में देखा और लगा कि मैं सही रास्ते पर हूं और मैंने अभी अपनी रणनीति को परिष्कृत करना है और पूरे आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ना जारी रखा."

छोटे शहर में उपलब्ध संसाधनों की कमी के कारण, अनु को तैयारी और अद्यतन अध्ययन सामग्री के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए इंटरनेट पर निर्भर करना पड़ा. एक अच्छी योजनाबद्ध रणनीति के साथ, वह एक स्पष्ट सोच और कुशल दृष्टिकोण के साथ सी.एस.ई. 2017 की तैयारी कर रही थी.

इस प्रयास में उनकी सफलता की संभावना के बारे में, अनु ने कहा, "मैं सकारात्मक परिणाम के बारे में आशावादी थी और मुझे अपना नाम सूची में पाने का विश्वास अवश्य था; लेकिन, मेरे परिवार के सदस्य और कुछ दोस्त मुझे शीर्ष 5 में देखने की उम्मीद कर रहे थे.

मैं अपने लक्ष्य से विचलित नहीं हुई, ध्यान केंद्रित कर मैंने अपनी सारी ऊर्जा तैयारी करने में लगा दी और भाग्यवशः इन प्रयासों ने वास्तव में अविश्वसनीय परिणाम प्रस्तुत किए हैं.

Last Update Sunday 20th May 2018

Write Comments

IASPassion.com ...Career