सिविल सेवा परीक्षा में सफलता केवल सुनियोजित परीश्रम के माध्यम से ही आ सकती हैं, टीना डाबी (ए.आई.आर. 1; सी.एस.ई. 2015)

(Success in Civil Services Examination can come only through ‘Planned Hard-work’ says Tina Dabi (AIR 1; CSE 2015))

एक 22 साल की लड़की के लिये पहले प्रयास में ही शीर्ष स्थान प्राप्त करना किसी स्वप्न से कम नहीं. जब टीना ने मेरिट सूची में अपना नाम खोजने के लिए परिणाम की जाँच की और इसे शीर्ष पर पाया तो यह सच में अविश्वसनीय था. पहली बार इस परीक्षा में शामिल हो शीर्ष स्थान प्राप्त कर लेना अपने आप में बड़ी उपलब्धि है और एक सपना सच होने जैसा है. इस सफलता की टीना सच में हकदार है जिसके लिए एक योजनाबद्ध तरीके से सुनियोजित रणनीति के तहत कड़ी मेहनत से उन्होने कार्य को संपन्न किया.


 By:      On Monday 18th July 2016

टीना डाबी (ए.आई.आर. 1; सी.एस.ई. 2015) को आज किसी परिचय की जरूरत नहीं है. वह देश के युवाओं के बीच चर्चा का विषय है और सभी के लिए नई प्रेरणा स्रोत्र भी है.

टीना की सफलता वास्तव में अद्भुत है, अपने पहले ही प्रयास में प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा 2015 में सर्वोच्च पद को प्राप्त करना और वह भी सिर्फ 22 वर्ष की उम्र में.

सामान्यतया, यह एक ऐसी उम्र है जब आमतौर पर उम्मीदवार इस परीक्षा के बारे में गम्भीरता से सोचते हैं और तैयारी की योजनाओं पर अम्ल शुरू होता है, टीना ने तो इस परीक्षा में सफलता भी पा ली है.

अपनी इरादों में स्पष्ट टीना कहती हैं, "बहुत जल्दी मैंने इस परीक्षा को पहचाना और स्वीकार किया कि यह एक कठिन परीक्षा है और इसका एक निश्चित स्तर है; इसलिए, धैर्य और तैयारी में निरंतरता सफलता की कुंजी होने जा रहे हैं"

" जीवन में कुछ भी संभव है, आपको सिर्फ अपने लक्ष्य को प्राथमिकता बनाना है."

जब मैंने उनसे सफलता का रहस्य उजागर करने के लिए कहा तो टीना ने कहा कि यह सब उनके माता-पिता की रणनीति का फल है, विशेषकर उनकी माँ का जिन्होंने सटीक नियोजन बनाने में मदद की. मेरे लिये उनकी मदद के बिना यह सब हासिल करना शायद संभव नहीं हो पाता.tina-dabi-ias-upsc-topper-civil-services-exam-2015

सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिये परीक्षा-योजना को समझना बहुत महत्वपूर्ण है और यह जानना भी कि यहाँ क्या काम करता है. मैंने इस ओर अपनी राह स्कूल में ही बदल दी थी और मानविकी-धारा से एक विषय (राजनीति विज्ञान) का चयन इस योजना का हिस्सा था.

यहाँ तक कि स्नातक स्तर की पढ़ाई में, मैने राजनीति विज्ञान विषय का साथ जारी रखा और इस सफलता की एक ठोस नींव का निर्माण किया. इसके अलावा, सामान्य अध्ययन की तैयारी के लिए उपयुक्त मार्गदर्शन ने पाठ्यक्रम के साथ संपर्क बनाये रखा.

टीना कहती हैं, "अब यह एक अभिनव परीक्षा है; यहाँ चाहे सामान्य अध्ययन हो या वैकल्पिक विषय, यहां तक ​​कि निबंध प्रश्न-पत्र, आपको प्रत्येक प्रश्न-पत्र के बारे में स्पष्टता अनिवार्य है और सबसे महत्वपूर्ण, बदलते रुझान पर नजर रखना अत्यंत आवश्यक है.

एक बार जब आप मुख्य परीक्षा (लिखित) में यथोचित अच्छे अंक प्राप्त कर लेते हैं तो स्वतः दबाव कम हो जाता है और आप व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्कार) के लिए बेहतर प्रदर्शन देने में सक्षम हो पाते हैं."

वास्तव में टीना ने मस्तिष्क की स्थिरता का एक अद्भुत उदाहरण दिखाया है और भविष्य में इस परीक्षा में शामिल होने को तत्पर उम्मीदवारों के लिए 'सफलता मंत्र' दिया है कि योजनाबद्ध तरीके से कड़ी मेहनत के साथ तैयारी में निरंतरता बनाए रखते हुए कोई भी इस परीक्षा में वांछित सफलता प्राप्त कर सकता है.

टीना, निसंदेह यह एक उत्कृष्ट सफलता है जो युवाओं में जोश भर देगी.

उज्ज्वल भविष्य के लिये शुभकामनाएं !

Last Update Monday 18th July 2016

Write Comments

IASPassion.com ...Career